Search
Close this search box.
> निबंध की सजा पलटी, बेल रद्द कर नाबालिग ड्राइवर को सुधार गृह भेजा

निबंध की सजा पलटी, बेल रद्द कर नाबालिग ड्राइवर को सुधार गृह भेजा

Pune Accident Case Essay's sentence overturned, bail canceled and minor driver sent to reform home

पुणे में लग्जरी पोर्श कार एक्सीडेंट मामले में जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड ने बुधवार को नाबालिग आरोपी की जमानत रद्द कर उसे 5 जून तक बाल सुधार गृह भेज दिया। बोर्ड ने पहले निबंध लिखने जैसी कुछ शर्तों के साथ जमानत दे दी थी। पुणे पुलिस ने केस की गंभीरता को देखते हुए बोर्ड के फैसले के खिलाफ सेशन कोर्ट में अपील की थी। कोर्ट ने पुलिस को जुवेनाइल बोर्ड जाने का निर्देश दिया था। पुलिस की अर्जी पर बोर्ड ने आरोपी को बुधवार को दोबारा बुलाया और जमानत रद्द कर बाल सुधार गृह भेज दिया। उधर, आरोपी नाबालिग के पिता विशाल अग्रवाल को जब पुलिस सत्र न्यायालय ले जा रही थी, तो कुछ लोगों ने उस पर स्याही फेंकी और नारेबाजी कर हंगामा किया। इन लोगों ने पुलिस वैन को भी रोकने का प्रयास किया। पुलिस ने मंगलवार को विशाल सहित 5 लोगों को गिरफ्तार किया था।

इनमें पुणे के कोजी रेस्टोरेंट के मालिक का बेटा नमन भूतड़ा, मैनेजर, सचिन काटकर, ब्लैक क्लब होटल का मैनेजर संदीप सांगले और स्टाफ सदस्य जयेश बोनकर शामिल हैं। इन पर नाबालिग को शराब परोसने का आरोप है। पुलिस ने कोजी रेस्टोरेंट और ब्लैक क्लब होटल को सील कर दिया। नगर निगम ने कई पबों के अवैध निर्माण पर बुलडोजर चलाया।

48 हजार की शराब गटकी
पुणे पुलिस कमिश्नर अमितेश कुमार के मुताबिक, नाबालिग आरोपी ने 18 मई रात को 48 हजार रुपए शराब का बिल चुकाया था। इसके बाद रात दो बजे पोर्श कार से एक्सीडेंट हुआ, जिसमें दो इंजीनियरों की मौत हो गई।

25 साल तक नहीं चला सकेगा गाड़ी :
नाबालिग आरोपी को 25 साल की उम्र तक ड्राइविंग लाइसेंस नहीं मिलेगा। महाराष्ट्र परिवहन आयुक्त विवेक भीमनवार ने बताया कि दुर्घटना में शामिल लग्जरी वाहन को 12 महीने तक किसी भी क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय में पंजीकरण की इजाजत नहीं दी जाएगी। मोटर वाहन अधिनियम के प्रावधानों के तहत इसका मौजूदा अस्थायी पंजीकरण रद्द कर दिया जाएगा।

अग्रवाल परिवार का अंडरवर्ल्ड कनेक्शन भी सामने आया है। आरोपी के दादा सुरेंद्र कुमार अग्रवाल ने अपने भाई से संपत्ति विवाद में अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन की मदद ली थी। राजन के गुर्गे ने गोलीबारी भी की थी। इस मामले में हत्या की कोशिश का मामला दर्ज हुआ था। पहले पुलिस ने इसकी जांच की, बाद में सीबीआई को मामला सौंपा गया। यह केस कोर्ट में विचाराधीन है।

वयस्क जैसा दंड मिले: मृतक की मां… हादसे में मृतक अनीश की मां सविता अवधिया ने नाबालिग आरोपी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है। उन्होंने कहा, वह नाबालिग था तो गाड़ी क्यों चला रहा था, शराब क्यों पी? उसे वयस्क जैसा दंड मिलना चाहिए।

Author
Related Post
ads

Latest Post