Search
Close this search box.
> कोविशील्ड: चिंता कम, निगरानी ज़्यादा!भारत में कोविशील्ड वैक्सीन के साइड इफेक्ट पर पैनी नज़र

कोविशील्ड: चिंता कम, निगरानी ज़्यादा!भारत में कोविशील्ड वैक्सीन के साइड इफेक्ट पर पैनी नज़र

covid19
covid19

कोविशील्ड: चिंता कम, निगरानी ज़्यादा!

भारत में कोविशील्ड वैक्सीन के साइड इफेक्ट पर पैनी नज़र

क्या कोविशील्ड वैक्सीन लेना सुरक्षित है?

यह सवाल इन दिनों भारत में कई लोगों के मन में है। कुछ लोगों को वैक्सीन के साइड इफेक्ट की खबरें सुनकर चिंता हो रही है।

लेकिन घबराने की कोई बात नहीं है। भारत सरकार वैक्सीन के हर पहलू पर बारीकी से नज़र रख रही है और यह सुनिश्चित कर रही है कि सभी नागरिकों को सुरक्षित और प्रभावी टीकाकरण उपलब्ध हो।

आइए जानते हैं कुछ महत्वपूर्ण बातें:

  • सुरक्षा: कोविशील्ड वैक्सीन को भारत में आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी मिलने से पहले कड़े क्लिनिकल ट्रायल से गुजरना पड़ा था। इन ट्रायल में वैक्सीन को सुरक्षित और प्रभावी पाया गया।
  • साइड इफेक्ट: किसी भी दवा की तरह, कोविशील्ड वैक्सीन के कुछ साइड इफेक्ट भी हो सकते हैं। इनमें से ज्यादातर हल्के और अस्थायी होते हैं, जैसे कि दर्द, बुखार, थकान, और इंजेक्शन वाली जगह पर सूजन। गंभीर साइड इफेक्ट बहुत ही दुर्लभ हैं।
  • निगरानी: भारत सरकार “आधार” नामक एक प्रणाली के माध्यम से कोविशील्ड वैक्सीन के साइड इफेक्ट की निगरानी कर रही है। इस प्रणाली के माध्यम से, स्वास्थ्य कर्मी वैक्सीन लेने वाले लोगों से किसी भी दुष्प्रभाव की रिपोर्ट कर सकते हैं।
  • आपका क्या करना चाहिए: यदि आपको कोविशील्ड वैक्सीन लेने के बाद कोई गंभीर साइड इफेक्ट महसूस होता है, तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

याद रखें:

  • कोविशील्ड वैक्सीन कोविड -19 से बचाने का एक सुरक्षित और प्रभावी तरीका है।
  • भारत सरकार वैक्सीन की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध है।
  • यदि आपको कोई चिंता है, तो अपने डॉक्टर से बात करें।

टीका लगवाएं, सुरक्षित रहें, और स्वस्थ रहें!

यह जानकारी केवल शैक्षिक उद्देश्यों के लिए है। यह किसी भी प्रकार का चिकित्सा सलाह नहीं है।

Author
Related Post